Skip to main content

चंद सेकंड में किसी भी 2D इमेज को 3D में कन्वर्ट कर सकेंगे यूजर्स, फेसबुक के शोधकर्ताओं ने तैयार किया नया सिस्टम

फेसबुक के शोधकर्ताओं ने एक एंड-टू-एंड सिस्टम तैयार किया है। इससे यूजर्स स्मार्टफोन से ली गई 2D तस्वीरों को चंद सेकंड 3D में कन्वर्ट कर सकेंगे। शोधकर्ताओं ने बताया कि नया फ्रेमवर्क यूजर्स को 3D फोटोग्राफी के लिए अधिक प्रैक्टिकल अप्रोच प्रदान करता है साथ ही कई नई डिजाइन के बारे में सुझाव देता है।
यूजर्स किसी भी मोबाइल डिवाइस पर इसटेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर सकेंगे और रियल टाइम में 2D इमेज को 3D में कन्वर्ट कर सकेंगे वो भी बिना किसी प्रोफेशनल फोटोग्राफीस्किल्स के। इस प्रक्रिया को पूरा होने में केवल चंद सेकंड का समय लगता है और यह सिस्टमनई-पुरानी हर तरह की तस्वीरोंपर काम कर सकता है।

किसी भी फोन पर काम करेगा सिस्टम

  • फेसबुक पर काम के प्रमुख लेखक और शोध वैज्ञानिक जोहान्स कोफ ने कहा, शुरुआत में सभी तस्वीरें ब्लैक एंड व्हाइट और ग्रेन्युल थीं, फिर रंगीन फोटोग्राफी आई और फिर डिजिटल फोटोग्राफी ने हमें उच्च गुणवत्ता और बेहतर-रिजॉल्यूशन वाली तस्वीरें दीं।
  • आखिरकार, इन दिनों हमारे पास 3D फोटोग्राफी है, जिससे हम तस्वीरों को बहुत अधिक जीवंत और वास्तविक महसूस करते हैं। 2D से 3D फोटो तकनीक 2018 के अंत से फेसबुक पर "फोटो फीचर" के रूप में उपलब्ध है। लेकिन इस फीचर का इस्तेमाल करने के लिए फेसबुक यूजर्स को डुअल-लेंस कैमरा वाले फोन से फोटो खींचने की आवश्यकता होती थी।
  • अब, फेसबुक टीम ने इसमें एक एल्गोरिथ्म जोड़ा है जो खुद 2D इनपुट इमेज की गहराई का अनुमान लगाता है और खास बात यह है कि इस तकनीक को किसी भी मोबाइल डिवाइस पर इस्तेमाल किया जा सकता है।

सिस्टम तैयार करने के लिए फेसबुक एआई की मदद ली गई

  • नए सिस्टम को बेहतर बनाने के लिए शोधकर्ताओं ने पब्लिक डोमेन में उपलब्ध करोड़ों 3D तस्वीरों के जरिए ट्रेन किया। इसके लिए फेसबुक एआई की मदद ली गई। फ्रेमवर्क में 2D इनपुट इमेज की टेक्चर इनपेंटिंग और जियोमेट्री कैप्चर को भी 3D में कन्वर्ट करना शामिल है, जिससे ऐसी तस्वीरें मिलकी हैं जो अधिक सक्रिय और जीवंत लगती हैं।
  • हर ऑटोमेटेड स्टेप्स जो यूजर के 2D फोटो को सीधे उनके मोबाइल डिवाइस से कन्वर्ट करता है, कई प्रकार के मेक और मॉडल पर चलने के लिए ऑप्टिमाइज किया गया है और यह डिवाइस की लिमिटेड मेमोरी और डेटा-ट्रांसफर क्षमताओं के साथ काम करने में सक्षम है।
  • टीम ने कहा कि- यूजर्स को इससे तुरंत संतुष्टि मिलती है क्योंकि 3D रिजल्ट्स कुछ ही सेकंड में जनरेट हो जाते हैं।

हाई क्वालिटी डेप्थ पता लगाने के लिए सिस्टम तैयार कर रही फेसबुक

  • फेसबुक पर शोधकर्ता हाई क्वालिटी 3D अनुभवों को बनाने के लिए नए और आविष्कारशील तरीकों की ओर काम कर रहे हैं, जो कंप्यूटर विजन, ग्राफिक्स और मशीन लर्निंग को आगे बढ़ा रहे हैं।
  • भविष्य के लिए टीम मशीन-लर्निंग तरीकों की जांच कर रही है, जो मोबाइल डिवाइस के साथ लिए गए वीडियो के लिए हाई-क्वालिटी डेप्थ का अनुमान लगाने में सक्षम होंगी। फेसबुक के शोधकर्ता अगस्त में SIGGRAPH 2020 कॉन्फ्रेंस में अपने सिस्टम को प्रदर्शित करने के लिए तैयार हैं।


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
2D से 3D फोटो कन्वर्ट करने की तकनीक 2018 के अंत से फेसबुक पर "फोटो फीचर" के रूप में उपलब्ध है, लेकिन उस समय इस फीचर का यूज करने के लिए यूजर्स को डुअल-लेंस कैमरा वाले फोन से फोटो खींचने की आवश्यकता होती थी


https://ift.tt/2CAJIdR
https://ift.tt/38aZSXi

Comments

Popular Post

Basic Commands of kali Linux/Linux

  Hello everybody.Today, I will go over a few basic commands which you will need inorder to follow this course through. Now these basic commands are used in order to navigate within the terminal, or through the file system,to figure out where you are at the moment, to copy things, move things, getlistings of files, folders, see the contents, remove them, changethe ownership of files, or change the modes of files. You will see shortly whatI mean. CD Command :  So, first off, we have CD which is change directory. If I just type in cd /home/ I am going to navigate over to my home directory. CD stands forchange directory, as I said before, you are literally changing the your workingdirectory. If you type in cd .. you will always go one step back. So double dot is always the previous folder. A bit of a shortcut there, you will use it fairly often. LS Command :  Next up we have LS. LS shows you thelisting of the current folder contents, but you can also use ls /, forexample, home, and you ge

अमेजन ने सेल्फ ड्राइविंग कार स्टार्टअप Zoox खरीदा तो एलन मस्क ने जेफ बेजोस को 'कॉपी कैट' बताया, ट्वीट कर उड़ाया मजाक

टेस्ला के सीईओ एलन मस्क ने सेल्फ ड्राइविंग कार स्टार्टअप Zoox खरीदने की घोषणा पर अमेजन के संस्थापक और सीईओ जेफ बेजोस का मजाक उड़ाया है। एलन मस्क ने शुक्रवार देर रात एक ट्वीट करके बेजोस को 'कॉपी कैट' बताया। अमेजन ने शुक्रवार को की थी Zoox खरीदने की घोषणा अमेरिका की दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन ने शुक्रवार को सेल्फ ड्राइविंग कार स्टार्टअप Zoox को खरीदने की घोषणा की थी। यह सौदा 1 बिलियन डॉलर करीब 7500 करोड़ रुपए में हुआ है। अमेजन लंबे समय से अपनी डिलिवरी सेवाओं में तेजी लाने और किफायती बनाने की दिशा में काम कर रही है। इस सौदे के जरिए कंपनी को अपनी इस योजना को मूर्तरूप देने में महत्वपूर्ण मदद मिल सकती है। पहले भी बेजोस पर जुबानी हमला कर चुके हैं एलन मस्क यह पहला मौका नहीं है जब एलन मस्क ने जेफ बेजोस पर जुबानी हमला किया है। इस महीने की शुरुआत में भी एलन मस्क ने एक ट्वीट कर कहा था 'टाइम टू ब्रेक अप अमेजन'। दरअसल, लेखक एलेक्स बेरेंसन ने एक स्क्रीनशॉट दिखाते हुए ट्वीट किया कि कोविड-19 के बारे में उनकी आगामी पुस्तक बिक्री के लिए अमेजन के दिशानिर्देशों को पूरा नहीं करती है। इ

गूगल ने एंड्रॉयड ऐप्स के साथ जोड़ा अपना वॉयस असिस्टेंट सिस्टम, अब बोलने भर से काम करेंगे ऐप्स

गूगल अपने वॉयस असिस्टेंट सिस्टम को ज्यादा से ज्यादा उपयोगी बनाने के लिए रोज नए-नए इनोवेशन कर रही है। कंपनी ने अब अपने वॉयस असिस्टेंट सिस्टम को एंड्रॉयड ऐप्स के साथ जोड़ दिया है। यानी अब सिर्फ बोलने भर से ऐप्स से काम करना शुरू कर देंगे। कंपनी ने कहा कि अब आप 'हे गूगल' बोलकर न सिर्फ ऐप्स खोल पाएंगे बल्कि उनसे काम भी करवा सकेंगे। गूगल ने यह फीचर प्ले-स्टोर पर मौजूद लगभग 30 टॉप ऐप्स में जोड़ा है, जो विश्व स्तर पर अंग्रेजी में उपलब्ध हैं, और जल्द ही कंपनी इस फीचर को अन्य ऐप्स में जोड़ने की योजना बना रही है। कंपनी ने इस फीचर को रोल-आउट करना शुरू कर दिया है। गूगल ने असिस्टेंट में दो नई अंग्रेजी आवाजें भी जोड़ी हैं और इसकी आवाज को अधिक नैचुरल बनाने के लिए इसमें एक बेहतर प्रोसोडी मॉडल का उपयोग किया है। बोलकर कर सकेंगे ये सारे काम एंड्रॉयड ऐप के साथ गूगल असिस्टेंट को इंटीग्रेट कर दिया गया है। यानी अब आप केवल बोलने भर से गाने सुन सकते हैं, सोशल मीडिया पर पोस्ट कर सकते हैं, फूड ऑर्डर कर सकते हैं, कैब के लिए कॉल करने के साथ ही अन्य जरूरी काम भी कर सकेंगे। इतना ही नहीं अब आप असिस्टेंट का

इंडियन ऑयल ने इलेक्ट्रिक व्हीकल के लिए बैटरी स्वैपिंग सुविधा शुरू की, अब मिनटों में मिल जाएगी फुल चार्ज बैटरी

देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड (आईओसीएल) ने शुक्रवार को बैटरी स्वैपिंग सुविधा लॉन्च की। इस सुविधा के शुरू होने से इलेक्ट्रिक व्हीकल (ईवी) में बैटरी चार्जिंग की समस्या खत्म हो जाएगी। आईओसी ने यह सुविधा पेट्रोल पंपों पर उपलब्ध कराई है, जहां से कोई भी ईवी चालक मिनटों में डिस्चार्ज बैटरी के बदले में फुल चार्ज बैटरी ले सकता है। कहां मिलेगी सुविधा पायलट प्रोजेक्ट के तहत यह सुविधा चंडीगढ़ के एक पेट्रोल पंप से शुरू की गई है। आने वाले समय में इस सुविधा को देशभर के 20 अन्य आईओसी आउटलेट्स पर भी शुरू किया जाएगा। इनको होगा लाभ शुरुआत में इस सुविधा का लाभ इलेक्ट्रिक ऑटो, इलेक्ट्रिक रिक्शा और इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर जैसे कमर्शियल व्हीकल को मिलेगा। इसके अलावा फैक्ट्री फिटेड इलेक्ट्रिक व्हीकल भी बैटरी सुविधा का लाभ ले सकेंगे। सन मोबिलिटी के साथ साझेदारी आईओसीएल ने इस सुविधा के लिएसन मोबिलिटी के साथ साझेदारी की है। इस साझेदारी के तहत सन मोबिलिटी बैटरी स्वैपिंग सुविधा के लिए क्विक इंटरचेंज स्टेशन (क्यूआईएस) स्थापित कर रही है। इन शहरों में भी जल्द शुरू होगी सुविधा पा